पहले प्यार का पहला सेमेस्टर

Pahle Pyar Ka Pahla Semester,
पहले प्यार का पहला सेमेस्टर , रोग कुछ ऐसा लग जाता दिल पर

कॉलेज का पहला सेमेस्टर कई  मायनो में खास होता है, ये केवल पढ़ाई का ही नहीं बल्कि किसी के प्यार का पहला सेमेस्टर होता है,  पर किसी का प्यार डिग्री  की  तरह जिंदगी भर साथ देता है तो किसी का आखिरी सेमेस्टर की फेयरवल पार्टी की तरह उसी दिन से विदा हो जाता है.  बात करते हैं गढ़वाल विश्वविद्यालय (Garhwal University) के MBA  डिपार्टमेंट का 2011-2012 का बैच कही मामलों में खास था,  खास ये नहीं था कि उन्होने कुछ अलग किया, जो उन्होने किया वो तब तक किसी ने नहीं किया शायद. जहाँ उस समय 2012 वालों के सर पर श्रीनगर के सुप्रसिद्घ वक्तव्य जयदीप भट्ट जी का साथ था. वहीं 2012 वाले बैच पर उनके सीनियर 2011 वालों का दोष लगा था  बल,  दोष ये था कि उनके सीनियर ने उनकी फ्रेशर (Fresher)पार्टी करवाई और जूनियर ने उनको विदाई (Farewell) पार्टी नहीं दी,  और तो और 2012 बैच वालों ने अपने जुनियर तक को ठंडे बस्ते में रखा, और जुनियरों का वो दोष अलग.मैं खुद इस दोष के कारण अपने सीनियर की शादी में सम्मिलित नहीं हो पाया, लेकिन इस दोष के कुछ गंभीर असर भी हुए, एक तो सीनियर लड़की का दिल जूनियर लड़के पर आ गया, और जुनियर लड़की का दिल सीनीयर पर आ गया व  एक दो का सहपाटी पर ही आ गया,  बल जिनका सहपाटी पर आया, उनके दिल की आवाज सभी साथियों को पास आउट होने के बाद सुनाई दी, मेरा मतलब शादी के कार्ड देखकर और कुछ  अभी भी इसी कशमकश में है,  इसका एक फायदा और भी हुआ उन दोस्तों को, एक  तो मार्केंटिंग (Marketing) के लड़के कालेज में ही खुद प्रमोशन करना सीख गये थे. और दूसरा एच आर (HR)की लड़कियां रिक्रूटमेंट और सलेक्शन (Recruitment & Selection) करना.  वहीं एक दो फुर्की बांद भी थी जिन्होंने लड़को का खूब काटा दरअसल इन लड़कियों को  एच आर में नहीं होना चाहिए था बल्कि मार्केंटिंग ग्रुप में होना चाहिए था एैंसा हुनर वहीं काम आता है,  पर क्या करें श्रीनगर के कुछ लड़के ये कभी नहीं समझ पाये कि फुर्की बांद जैंसी लड़कियों को तुम्हारी बाईक से प्यार था तुमसे नहीं आखिर चौरास से पैदल पुल पार केवल पहाड़ी लड़की ही पार कर सकती है शहर की नहीं.

प्यार का मैनेजमैंट

उन दिनों मार्केंटिंग वाले लड़कों ने 4 P  का मतलब कुछ और ही तय किया था,  “Pahle Pyar Phir Padayi” , और एच आर की लड़कियों ने  सबसे पहले Performance Appraisal  के नुस्खे इन्हीं लड़को पर अजमाये थे, मैनेजमैंट के गुरु की कृपा तो  देखिए जिस सीनियर लड़की ने जुनियर का रिक्रूट किया उसका नाम भी “A”  से शुरु होता है और जिस सहपाटी ने अपनी सहपाटी का रिक्रूट किया उसका नाम भी  “A”  से  शुरू होता है, ( A square 2  X A square 2) और शादी भी उसी महीने और उसी शहर में हुई, (श्रीनगर गढ़वाल). वहीं कुछ जुनियर ये सोचकर परेशान थे कि सीनियर का दिल जुनियर लड़के पर कैंसे आ गया, पर  वो ये नहीं जानते थे कि वे सिर्फ पढ़ाई में जुनियर थे बच्चपन से दोनो श्रीनगर के “सेंट फर्राटा स्कूल” में साथ पढ़ते थे.  प्यार की दूरदर्शिता (Forecasting ) भी सही थी और सफल प्यार की  Probability  शत प्रतिशत सच्ची थी, और प्यार के  Distribution Channel  में किसी भी प्रकार का  Error  नहीं था. घर वालों के  Survey Sample   में भी कोई समस्या नहीं थी, Questionnaire  में भी सबके जवाब उम्मीद से अच्छे निकले. प्यार का  Network Diagram   हो तो एैंसा हो और यही एक  सही  प्यार का Management  भी है. वो शुक्र है कि गढ़वाल विश्वविद्यालय में  Cafeteria   नहीं था वरना प्यार की पाठशाला ज्यादा नहीं चलती क्योंकि  Coffee  से दूरियां बढ़ती हैं, नजदीकियां तो चाय बढ़ाती है. उपर से गढ़वाली और चाय भी श्याम कैंटीन वाले की. श्याम जी की चाय ने नजाने कितने दिलों को जोड़ा है, पर सेमेस्टर वालों को पढ़ाई की ज्यादा चिंता नहीं होती है क्योंकि उनको पता है सेमेस्टर में कोई फेल नहीं होता है बस  KT  लगती है  KT  मतलब  Keep Turn. ये एैंसा  Turn  होता बस जुनियर के साथ क्लास तो नहीं लेनी पढ़ती पर हां पेपर जरूर देना पढ़ता है. वैंसे भी एक दिन की इज्जत और बेइज्जती से कोई असर नहीं पढ़ता. खासकर जिसको प्यार हो तो उसके लिए सब समान है.

MBA फाइनैंस वालों का प्यार, जैंसे कि उतार चढ़ाव में शेयर बाजार.  इनके प्यार की बैलेंस सीट (Balance Sheet) कभी मैच नहीं होती क्योंकि इनको फाइनैंस मैनेजमैंट में  मांगलिक समझा जाता है. ज्यादा तर इनके घर वाले ही इनके लिए रिक्रूट करते हैं क्योंकि इनके प्यार के बीच में पैंसों का  तोलमोल ज्यादा ही रहता है. दिल इनका इनवेस्टर की तरह होता है बहुत ज्यादा सोच विचार करके इनका दिल किसी पर आता है, पर जितनी देर ये सही गलत सोचने में लगाते हैं तब तक माक्रेटिंग वाला तारगेट पूरा करके कमीशन खा जाता है. मैनेजमेंट एकाउंट समझने के चक्कर में ये बेचारे जिंदगी की एकांउटेबिलटी से कोसो दूर चले जाते हैं. अगर ये प्यार की  Monthly Expense File  बना भी लें तो भी  प्यार की  Return File   दिल टूटने के बाद  ही भरने की कोशिश करते हैं, जिसका कि इनको कभी भी डबल टेक्स लाभ नहीं मिलता. प्रेम पत्र लिखने की उमर में बेचारे लेटर हेड लिखते रहते हैं.  फाइनैंस वालों को ये बात कभी समझ में नहीं आयेगी  कि प्यार  Profit and loss  की बुनियाद पर नहीं बल्कि  No Profit No Loss (Break-Even)–  की बुनियाद पर चलता है.

कुछ अलग से किस्से 

श्रीनगर ढांग की रहने वाली दो लड़कियों में से एक को घर वाले बहुत लाटी (Innocent) समझते थे,  पर  पास आउट होने के चार साल बाद बड़े साहस के दम पर वो घर में अपने पसंद के लड़के के बारे में बता पाई,  उसके  Self Confident  में कितनी कमी थी, पर प्यार के  Self Confident  में एक भी कमी नहीं थी. वहीं एक  सीनियर और थी ढांग की  कालेज तो  कम कम ही आती थी अगर आ भी गई तो लेक्चर नहीं लेती थी. क्योंकि श्रीनगर की जो थी. एक  दो सीनियर की टक्क  टक्की तो रहती थी उस पर, पर  वो दिखती लाटी थी पर चंट चालाक खूब थी उसने  अपना  Criteria  इतना कठिन कर रखा था कि, क्या बताएं.  लड़कों की जिकुड़ी भी झूर जाती थी. पर  बाद  में उस पर एक एयरफोर्स वाले अफसर का दिल आ गया, उतनी मेहनत अफसर बनने में नहीं लगी जितनी उन भाईसाहब को मेडम को पाने में लगी,  आखिर एच  आर  (HR) की  थी  तो  उसने अपना Criteria high level  पर कर रखा था,  बेचारे लड़के ने एयर फोर्स में इतनी दौड़ नहीं लगाई जितनी पहाड़न को पाने के लिए लगाई, लड़का भी पहाड़ी था तो ढीट जिकुड़ी वाला था और आर्मी वाले जल्दी हार नहीं मानते. पर पहाड़ की लड़कियों का दिल कितना भी  कठोर क्यों ना हो आर्मी वालों पर पिघल ही जाता है.  एक दो हर कॉलेज में एैंसे होते हैं जिनको मीठी छुरि कहा जाता है  ये जताते तो सच्चा प्यार हैं पर इनको इधर उधर मुह मारने की आदत होती है, पर जो एक से प्यार नहीं कर सकता या सकती वो जिंदगी  में अगर किसी और के साथ सफर भी कर ले पर वो सफर अधूरा रहता है. उनको ये लगता है कि वो जो कर रहे हैं या रही हैं वो सब सही है पर वो नहीं जानते कि वो कितनो की नजरों में गिर जाते है. 

4 thoughts on “पहले प्यार का पहला सेमेस्टर”

  1. Bahut sahi….
    aur kbhi kabhi mba walo aur mathematics department walo ka bhi chl jaya krta akhir padosi hain bl……😂😂😂😂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *