जब बिटि स्मार्टफ़ोन आई – Jab Biti Smartphone Aayi

Jab biti smartphone aayi by hardev negi

जब बिटि स्मार्टफ़ोन आई – Jab Biti Smartphone Aayi

आदरणींय गढ़रत्न श्री नेगी जी कु गीत ( मेरा हाथों की धांण छुटि ग्याई) अगर ये जमना हिसाब से रंचै जांदू त कन रंचैंदू, : 👇👇

मेरा हाथों की धांण छुटि ग्याई,
जब बिटि स्मार्टफ़ोन आई 📱,
आज अचंणचक झंणि क्य द्येखि फेसबुक मा, क्या पाई वट्सअप मा..!
.
रंगीळीं पिंगळीं घुघत्यों की प्रोफाइल लौक छन,
कुजांणि किलैं द्वी चार स्यंटलों का भी यनि हाल छन।।
जु नि दिखै सकदा तुम अन्वार होरूं संणि,
ना भ्यौजा फिरैंड रिक्वैस्ट, नि कबळांदू हमरू मन।।
धन्य तौं सणिं जौन प्रिया एैंजल की आई डी बणांई,
.
जौं फोटू मा हम तुमरा दगड़ा नि छन,
बेमतलब कु टैग किलै कना छन,
क्वी मीम मा छन दिल का भेद बतौंणा,
क्वी स्टोरी मा रुंणाट छन मचौंणा,
धन्य जियो कु जु डाटा फिरी काई,
.
ब्यूटी कैमरों कु कमाल बकिबात चा,
सैल्फी का चकरों मा गिच्ची ट्येणी हुयीं चा,
रात अधिरात तक नौनू बे मतलब बिज्यूं चा,
दोफरा घाम तक लंबपसार स्यायूं चा।।
फेकबुक का चकरों मा ज्वानी चा गंवाई.
.

मेरा हाथों की धांण छुटि ग्याई,
जब बिटि स्मार्टफ़ोन आई 📱,
आज अचंणचक झंणि क्य द्येखि फेसबुक मा, क्या पाई वट्सअप मा..!
.
लिख्वार :- हरदेव नेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *